प्रयागराज (इलाहाबाद) में घूमने लायक प्रमुख जगहें

प्रयागराज (इलाहाबाद) में घूमने लायक प्रमुख जगहें : प्रयागराज शहर का पुराना नाम इलाहाबाद था। अकबर ने यहां पर दीन-ए-इलाही धर्म की स्थापना की थी इसलिए इस शहर का नाम बदल कर 1583 में इलाहाबाद रख दिया गया। इलाहाबाद नाम का अर्थ ‘अल्लाह का बगीचा’ है। लेकिन इलाहाबाद शहर का प्राचीन नाम प्रयाग था, जिसे देवप्रयाग भी कहा जाता था। लेकिन अपनी प्राचीन संस्कृति को बचाने के उद्देश्य से लगभग एक से डेढ़ साल पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस शहर का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया और इसे केंद्र सरकार से मंजूरी भी मिल चुकी है।

गर्मियों में इंडिया में घूमने के लिए पांच सबसे बेहतरीन जगह

प्रयागराज शहर भारत के सबसे प्रसिद्ध एवं पवित्र तीर्थ स्थलों में से एक है। इस शहर में गंगा यमुना और सरस्वती तीन नदियों का संगम है जिसे देखने के लिए दुनिया भर से लोग प्रयागराज में आते हैं। प्रयागराज में हर 12 साल में एक बार कुंभ मेला का आयोजन होता है और 6 सालों में एक बार अर्ध कुंभ का आयोजन किया जाता है। इसके अलावा हर साल माघ महीने में माघ मेला का आयोजन किया जाता है जो जनवरी महीने से लेकर फरवरी महीने के अंत तक चलता है। हर साल करोड़ों श्रद्धालु माघ मेला के समय गंगा स्नान के लिए प्रयागराज आते हैं और कल्पवास भी करते हैं।

प्रयागराज (इलाहाबाद) में घूमने लायक प्रमुख जगहें

यदि आप प्रयागराज शहर में घूमने का प्लान बना रहे हैं तो हम आपको प्रयागराज शहर में घूमने लायक प्रसिद्ध जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको देखने के लिए देश-विदेश से पर्यटक इस शहर में आते हैं।

त्रिवेणी संगम

प्रयागराज में स्थित त्रिवेणी संगम को देखने के लिए दुनिया भर से पर्यटक यहां पर आते हैं। यहां पर 3 नदियों गंगा यमुना और सरस्वती एक दूसरे से मिलती हैं इसीलिए इसका नाम त्रिवेणी संगम है। आपकी जानकारी के लिए बता दें की पौराणिक कथाओं के अनुसार यह माना जाता है कि सरस्वती नदी लगभग 4000 साल पहले सूख गई थी लेकिन फिर भी हिंदू धर्म में इन तीनों नदियों का संगम बहुत ही मायने रखता है पुलिस स्टाफ इस जगह पर हर 12 साल में कुंभ मेला का आयोजन होता है और प्रतिवर्ष माघ मेला का आयोजन किया जाता है। माघ मेला में भी श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती है।

खुसरो बाग

खुसरो बाग इलाहाबाद के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। खुसरो बाग को मुगल वंश के शासक जहांगीर ने अपने बेटे खुसरो के लिए बनवाया था। इस जगह पर राजकुमार खुसरो के साथ-साथ उनकी मां शाह बेगम की भी कब्र है। खुसरो बाग का अमरुद पूरे भारत में प्रसिद्ध है।

आनंद भवन

Read More: Click Here

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*